दिल्ली संस्कृत अकादमी
योजनाएँ/कार्यक्रम एवं गतिविधियाँ

दिल्ली संस्कृत अकादमी दिल्ली सरकार की एक स्वायत्तशासी संस्था है । अकादमी द्वारा संस्कृत के प्रचार प्रसार के हेतु प्रतिवर्ष निम्नलिखित कार्य किए जाते हैं, जो अकादमी की कार्य-समिति द्वारा समय समय पर निर्धारित नीति के अनुसार सम्पन्न कराए जाते हैं। ये कार्य प्रति वर्ष अकादमी को दी जाने वाली अनुदान राशि की उपलब्धता पर निर्भर करते हैं ।

सम्मान और पुरस्कार
संस्कृत साहित्य सेवा सम्मान--
राजधानी दिल्ली में संस्कृत-भाषा एवं साहित्य के प्राचार-प्रसार के लिये संस्कृत के साहित्यकारों, लेखकों, कवियों, लेखकों आदि को पुरस्कार एवं सम्मान दिये जाते है। दिल्ली के साहित्यकारों, कवियों, लेखकों आदि के नामों पर अकादमी की कार्यकारी समिति द्वारा उनके समग्र योगदान का मूल्याकन करने के पष्चात् यह सम्मान दिया जाता है ।

विद्यालयीय महाविद्यालयीय संस्कृत सेवा सम्मान योजना--
इस योजना के अन्तर्गत दिल्ली स्थित विद्यालयों, महाविद्यालयों, संस्कृत विद्यालयों /महाविद्यालयों के संस्कृत शिक्षकों एवं शिक्षिकाओं को अकादमी द्वारा बोर्ड/विश्वविद्यालयीय परीक्षाओं में 100 प्रतिशत परीक्षा परिणाम के आधार पर प्रति वर्ष सम्मानित किया जाता है । इसके अतिरिक्त उत्कृष्ट परीक्षा परिणाम तथा छात्र संख्या के आधार पर विद्यालयों/महाविद्यालयों एवं संस्कृत विद्यालयों/महाविद्यालयों को भी सम्मानित किया किया जाता है । पुरस्कार स्वरूप प्रशस्तिपत्र, संस्कृत साहित्य, अंग वस्त्र, शाल आदि से सम्मानित किया जाता है ।

संस्कृत समाराधक सम्मान योजना--
इस योजना के अन्तर्गत दिल्ली स्थित विद्यालयों के संस्कृत एवं संगीत शिक्षक/शिक्षिकाओं को शिक्षा निदेशालय के 12 मण्डलों में आयोजित प्रतियोगिताओं में छात्र/छात्राओं को तैयार कराने हेतु सम्मानित किया जाता है । इसके लिये अकादमी द्वारा प्रत्येक विद्यालय को पत्र द्वारा सूचित किया जाता है ।

संस्कृत शिक्षक पुरस्कार--
अकादमी द्वारा निश्चित किये गये नियमों के अनुसार उत्कृष्ट संस्कृत शिक्षकों को प्रति वर्ष सम्मानित किया जाता है ।

संगोष्ठियाँ/सम्मेलन और कवि सम्मेलन-
भाषा संस्कृति के प्रचार-प्रसार और विचारों एवं अनुभवों के आदान प्रदान को बढ़ावा देने के उद्देश्य से संस्कृत अकादमी दिल्ली के विभिन्न क्षेत्रों में साहित्यिक संगोष्ठियों/सम्मेलनों का आयोजन करती है। इसके अलावा अकादमी द्वारा नियमित रूप से प्रतियोगिताएँ नाट्य समारोह, कार्यशालायें, काव्य गोष्ठियाँ आदि का आयोजन किया जाता है । इन कार्यक्रमों में उदीयमान एवं प्रतिष्ठित लेखकों को सम्मानित किया जाता है । अकादमी हर वर्ष विभिन्न अवसरों पर प्राचीन एवं आधुनिक साहित्यकारों एवं महापुरुषों की जयन्तियों पर कवि गोष्ठी एवं संगोष्ठियों का आयोजन कराती है ।

वित्तीय सहयोग

पाण्डुलिपि प्रकाशन सहयोग अकादमी द्वारा मौलिक संस्कृत लेखन को प्रोत्साहित करने के लिये संस्कृत के कवियों लेखकों को ग्रन्थ प्रकाशन के लिए अर्थिक सहयोग दिया जाता है । इसके लिये कुछ राशि पहले तथा कुछ राशि पुस्तक के प्रकाशन के बाद दी जाती है । सहयोग पुस्तक के पृष्टों पर आधारित होता है ।

संस्कृत-पत्रिकाओं और अन्य भाषाओं के समाचार पत्रों को विज्ञापन द्वारा आर्थिक सहयोग
 
संस्कृत पत्र, पत्रिकाओं और अन्य समाचार पत्रों को अकादमी के विभिन्न क्रियाकलापों/उपलब्धियों आदि से सम्बन्धित विज्ञापन दे कर आर्थिक सहयोग दिया जाता है । 

संस्कृत प्रतिभा पुरस्कार--
इस योजना के अन्तर्गत कक्षा दसवी, बारवीं, बी.ए., एम.ए., प्रथमा, पूर्व मध्यमा,
शास्त्री तथा आचार्य में संस्कृत विषय में उत्कृष्ट अंक प्राप्त करने वाले छात्र/छात्राओं को इस पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है ।

संस्कृत प्रतियोगिता पुरस्कार--
अकादमी द्वारा विभिन्न मण्डलों में आयोजित की जाने वाली छः दिवसीय प्रतियोगिता के विजेता प्रतिभागियों एवं संस्कृत विद्यालयों एवं महाविद्यालयों में आयोजित प्रतियोगिताओं के विजेता प्रतिभागियों को इस योजना के अन्तर्गत प्रमाण-पत्र प्रदान कर सम्मानित किया जाता है ।

विद्यालय स्तरीय मण्डलीय प्रतियोगिता&
अकादमी द्वारा प्रतिवर्ष दिल्ली शिक्षा निदेशालय के सभी 12 मण्डलों में छात्रों में संस्कृत भाषा के प्रति रुचि पैदा करने के उद्देश्य से छः दिवसीय प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है । ये प्रतियोगिताएँ निम्न हैं--
(1) श्लोक संगीत प्रतियोगिता (सामूहिक केवल बालिकाओं के लिए)
(2) संस्कृत काव्यालि प्रतियोगिता (सामूहिक)
(3) श्लोकोच्चारण प्रतियोगिता (सामूहिक केवल बालकों के लिए)
(4) संस्कृत वाद-विवाद प्रतियोगिता
(5) संस्कृत भाषण प्रतियोगिता

(6) एकल श्लोक संगीत प्रतियोगिता

संस्कृत विद्यालयीय प्रतियोगितायें--
अकादमी द्वारा संस्कृत को बढ़ावा देने के लिए संस्कृत के मूल विषयों पर विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताएँ आयोजित की जाती हैं जिसमें संस्कृत विद्यालयों के छात्र/छात्रायें ही भाग लेती हैं। प्रतियोगिताएँ प्रश्नमंच प्रतियोगिता, एकल श्लोक संगीत प्रतियोगिता, (मध्यमा/स्नातक-स्नातकोत्तर), व्याकरण सूत्र अन्त्याक्षरी, संस्कृत भाषण, श्लोक अन्त्याक्षरी, संस्कृत वाद-विवाद, वेद-मंत्र अन्त्याक्षरी, अक्षर श्लोक आदि हैं ।
 
सामान्य महाविद्यालय स्तरीय प्रतियोगिता--
महाविद्यालय स्तर पर संस्कृत-भाषा के विकास एवं प्रचार प्रसार के लिये अनेक प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है। जिसमें श्लोक संगीत प्रतियोगिता (सामूहिक), काव्यालि प्रतियोगिता (सामूहिक), एकल श्लोक संगीत प्रतियोगिता, संस्कृत भाषाण प्रतियोगिता, संस्कृत वाद-विवाद प्रतियोगिता, प्रष्नमंच प्रतियोगिता आदि का आयोजन किया जाता है।

संस्कृत अध्ययन केन्द्र--

प्रशासनिक सेवा परीक्षा संस्कृत अध्ययन केन्द्र--
यह षिक्षण व्यवस्था उन छात्रों को दी जाती है, जो संस्कृत विषय ले कर आई0 ए0 एस0 की परीक्षा में सम्मिलित होना चाहते हैं ।

कनिष्ठ अनुसन्धान अध्येतावृत्ति (जे.आर.एफ.) प्रवेष परीक्षा हेतु अध्ययन केन्द्रः-
        इसके अन्तर्गत संस्कृत विषय को आधार बनाकर जो विद्यार्थी जे.आर.एफ. /नेट की परीक्षा के लिये प्रवृत्त होते हैं। उनमे मार्गदर्षन के लिए केन्द्र संचालित किया जाता है।

ज्योतिष, कर्मकाण्ड, आयुर्वेद-योग एवं संस्कृत अध्ययन केन्द्र--
ये केन्द्र उन लोगों के लिये संचालित किये जाते हैं जो उपर्युक्त विषयों एवं संस्कृत का परिचयात्मक अध्ययन करना चाहते हैं ।

संस्कृत छात्रवृत्ति योजना--

दिल्ली के सभी विद्यालयों/महाविद्यालयों/संस्कृत विद्यालयों/सामान्य महाविद्यालयों में संस्कृत विषय में उत्कृष्ट अंक प्राप्त कर अगली कक्षा में पुनः संस्कृत विषय पढ़ने वाले छात्र/छात्राओं को कक्षा 9 वीं से लेकर एम.ए. तक तथा पूर्व मध्यमा से लेकर आचार्य तक के छात्रों को अकादमी के नियमानुसार छात्रवृत्तियां दी जाती हैं।

पुस्तकालय
        अकादमी द्वारा कार्यालय परिसर में ही एक छोटे पुस्तकालय की व्यवस्था है। जिसमें अकादमी प्रकाशनों तथा संस्कृत की अन्य पुस्तकें उपलब्ध हैं ।

संस्कृत पत्रिका प्रेषण योजना 
इस योजना के अन्तर्गत दिल्ली के संस्कृत विद्यालयों, विद्यापीठों और गुरुकुलों को संस्कृत-भाषा की नियमित प्रकाशित होने वाली प्रसिद्ध पत्र-पत्रिकायें प्रेषित की जाती हैं ।

पूर्णकालीन संस्कृत शिक्षक योजना
अकादमी द्वारा दिल्ली के सरकारी विद्यालयों में पूर्णकालीन संस्कृत शिक्षकों की नियुक्तियाँ की गई हैं। ये सभी शिक्षक टी.जी.टी. स्तर के हैं । इन सभी शिक्षकों को अकादमी द्वारा वेतन दिया जाता है।

अन्य प्रकार की गतिविधियाँ--

()   संस्कृत कवियों, लेखकों के साक्षात्कार--
संस्कृत भाषा के कवियों/लेखकों के साक्षात्कार आयोजित करके उन्ही के द्वारा उन्हें मिली काव्य रचना के लिए प्रेरणा तथा उनके जीवन के अनुभवों से जन सामान्य को परिचित कराया जाता है ।

()   दिल्ली के संस्कृत विद्वानों की समाराधना--
यह कार्यक्रम दिल्ली के प्रतिष्ठित संस्कृत विद्वानों की साहित्यिक कृतियों और संस्कृत के प्रचार प्रसार के लिए उनके योगदान पर आधारित होता है, जिसमें सम्बन्धित विद्वान/विदुषियों की समस्त कृतियों पर परिचर्चा आयोजित की जाती है ।

()   अखिल भारतीय मौलिक संस्कृत साहित्य रचना पुरस्कार--
इस परियोजना के अन्तर्गत संस्कृत की मौलिक रचनायें आमंत्रित की जाती हैं। मूर्धन्य विद्वानों से उनका मूल्यांकन कराया जाता है । तत्पश्चात् उत्कृष्ट कोटि के विद्वानों को नियमानुसार पुरस्कार राशि प्रदान की जाती है ।
 
()   अखिल भारतीय नवोदित संस्कृत कवि प्रतियोगिता--
इस परियोजना के अन्तर्गत उच्च कोटि के काव्य पाठ के लिए नवोदित संस्कृत कवि जो 35 वर्ष की आयु तक के हो उन्हें काव्य पाठ हेतु आमंत्रित किया जाता है । अकादमी समिति द्वारा निर्धारित नीति के अनुसार पुरस्कार प्रदान किये जाते हैं ।

()   अखिल भारतीय संस्कृत शोध निबन्ध लेखन प्रतियोगिता 
इस परियोजना के अन्तर्गत अकादमी द्वारा निर्धारित विषय पर 250 पृष्ठों के शोध लेख आमंत्रित किये जाते हैं । विद्वानों के द्वारा इन शोध-लेखों को मूल्यांकित कर पुरस्कार दिये जाते हैं ।

()   संस्कृत भित्ति चित्र प्रतियोगिता--
इस परियोजना के अन्तर्गत अखिल भारतीय स्तर पर विभिन्न संस्कृत विद्वानों से संस्कृत साहित्य में वर्णित काव्यों या कहानियों पर आधारित चित्रों को बनवाया जाता है तथा इन चित्रों का मूल्यांकन कर इन्हें पुरस्कृत किया जाता है ।

()   अखिल भारतीय लघु कथा एवं नाटक लेखन प्रतियोगिता--
इस परियोजना के अन्तर्गत अखिल भारतीय स्तर विद्वनों से संस्कृत की लघु कथाएँ एवं नाटक आमंत्रित किये जाते हैं। इन लघु कथाओं व नाटकों का मूल्यांकन करने के पष्चात् पुरस्कृत किया जाता है । 

()   अखिल भारतीय श्लोक समस्यापूर्ति लेखन प्रतियोगिता--
इस परियोजना के अन्तर्गत अखिल भारतीय स्तर पर संस्कृत के किसी भी विषय पर श्लोकों आमंत्रित किया जाता है । जिसमें एक शब्द दिया जाता है जो श्लोक के चतुर्थ पद में होना आवश्यक होता है। इन प्राप्त श्लोकों का मूल्यांकन करने के पश्चात् उच्च कोटि के श्लोकों को सम्मानित किया जाता है । 

()   अखिल भारतीय सद्यः पद्य रचना प्रतियोगिता--
इस परियोजना के अन्तर्गत अखिल भारतीय स्तर पर संस्कृत के विद्वानों के लिए सद्यः पद्य रचना प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है । जिसमें अकादमी द्वारा निर्धारित छन्द या विषय पर प्रतिभागी को सद्यः पद्य रचना करनी होती है।

(ञ)    वरिष्ठ संस्कृत नागरिक सम्मान--
दिल्ली के वरिष्ठ संस्कृत विद्वानों का जिनकी आयु 75 साल से अधिक हो जीवनवृत्त एवं संस्कृत सेवा के आधार पर अकादमी की नीति के अनुसार सम्मानित किया जाता है ।

()       संस्कृत वामयोपायन समारोह:-
दिल्ली के संस्कृत विद्यालयों के पुस्तकालयों के लिए अकादमी प्रति वर्ष संस्कृत साहित्य की ज्ञानोपार्जक पुस्तकों को सम्मान स्वरूप प्रदान करती है । 


मुख्यमंत्री
Shri Arvind Kejriwal
नवीनतम समाचार
महत्वपूर्ण लिंक
Last Updated : 25 Sep,2017