हमे जानें
संपर्क करें
दिल्ली खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड विभाग में आपका स्वागत है।
प्रस्तावना

आओ बुने बेहतर कल दिल्ली खादी बोर्ड के संग" खादी एवं ग्रामीण उद्योग योजनाएं ग्रामीण भारत की अर्थव्यवस्था की रीढ़ हैं। खादी भारत के स्वतंत्रता के लिए संघर्ष के दौरान औपनिवेशिक ब्रिटिश राज के विरुद्ध एक अवधारणा के रूप में विकसित हुई। स्वदेशी का अभिप्राय इस अवधारणा से है, 20 वीं सदी की शुरुआत में स्वतंत्रता संग्राम के लोकप्रिय नारे और ठोस कार्यकाल में, भारतीय क्षमता का एक दृढ़-वचन मानचेस्टर एवं लंकाशायर से फेबरिक कपडे़ आयात करने के बजाय अपने स्वयं के कपड़े निर्माण करना था, जिसने औद्योगिक क्रांति के बाद भारत में ब्रिटिश दबाब के खिलाफ शुरू से ही प्रोत्साहन प्रदान किया। स्वाभाविक रूप से, आजादी से पहले के दौर में यह योजना गैर सरकारी संगठनों के द्वारा कार्यान्वित थी।
Our Services
Online Application Status System
Prime Minister Employment Generation Programme(PMEGP)
Rajiv Gandhi Swavlamban Rozgar Yojna(RGSRY)
Know Your Application Status
Latest News
 
Automated System of Allotment Govt. of Delhi (e-Awas)
Delhi Budget 2017_18
Discontinuation of physical printing of Government of India Gazettes
 
Local Services